Home news अब कुपोषण के शिकार नहीं होंगे गरीब बच्‍चे, सरकारी योजनाओं के तहत बांटे जाने वाले चावल को पोषणयुक्‍त बनाएगी मोदी सरकार | Government to fortify rice given to poor children under different central schemes announces PM Modi

अब कुपोषण के शिकार नहीं होंगे गरीब बच्‍चे, सरकारी योजनाओं के तहत बांटे जाने वाले चावल को पोषणयुक्‍त बनाएगी मोदी सरकार | Government to fortify rice given to poor children under different central schemes announces PM Modi

by Vertika

[ad_1]

अब विभिन्‍न सरकारी योजनाओं के तहत बांटे जाने वाले चावल को पोषणयुक्त बनाया जाएगा. 5 राज्‍यों के 5 ज़‍िलों में पायलट प्रोजेक्‍ट पर यह काम शुरू भी हो गया है. पीएम मोदी ने रविवार को इसका ऐलान किया.

पांच राज्‍यों में इसे पायलट प्रोजेक्‍ट के तौर पर शुरू भी किया जा चुका है.

अलग-अगल सरकारी स्‍कीम्‍स के तहत गरीबों को बांटे जाने वाले चावल को केंद्र सरकार फोर्टिफाई (पोषणयुक्‍त) करेगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 75वें स्‍वतंत्रता दिवस के दिन संबोधन के दौरान इसका ऐलान किया. मीड-डे मील जैसी सरकार योजनाओं के तहत बांटे जाने वाले चावल को पोषणयुक्‍त बनाया जाएगा. केंद्र सरकार बच्‍चों में कुपोषण की समस्‍या से निपटने के लिए ऐसा कदम उठा रही है.

पीएम मोदी ने कहा, ‘कुपोषण और खाने में कई जरूरी तत्‍वों की कमी से गरीब बच्‍चों के विकास पर असर पड़ रहा है. इससे न‍िपटने के लिए 2024 तक सभी सरकारी स्‍कीम्‍स के तहत बांटे जाने वाले चावल को पोषणयुक्‍त बनाया जाएगा.

उन्‍होंने कहा, ‘यह सरकार की प्राथमिकता है कि हर व्‍यक्ति, हर गरीब वर्ग तक पोषण पहुंच सके. इसी को देखते हुए सरकार ने फैसला लिया है कि गरीबों में बांटे जाने वाले चावल को फोर्टिफाई किया जाएगा.

5 राज्‍यों में लागू होगा पायलट प्रोजेक्‍ट

वर्तमान में ‘पोषणयुक्‍त चावल को पब्लिक डिस्‍ट्रीब्‍युशन सिस्‍टम के जरिए बांटे जाने वाले सेंट्रल स्‍कीम’ के तहत 15 राज्‍यों को चिन्हित किया गया है. इनमें से 5 राज्‍यों के एक-एक जिले में इसे पायलट प्रोजेक्‍ट के आधार पर लागू किया जाएगा. ये राज्‍य आंध्र प्रदेश, गुजरात, महाराष्‍ट्र, तमिलनाडु, और छत्‍तीसगढ़ हैं, जहां पोषणयुक्त चावल बांटने का काम शुरू हो गया है. इनमें राज्‍यों में के चिन्हित ज़‍िलों में चावल में पोषण तत्‍व मिलाए जा रहे हैं.

ब्‍लॉक स्‍तर पर अस्‍पतालों के नेटवर्क पर काम

पीएम मोदी ने इस बात पर भी जोर दिया कि केंद्र सरकार हेल्‍थेकयर इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर को और भी मजबूत करने की दिशा में काम कर रही है. इसके अलावा दवाइयों को किफायत दर में उपलब्‍ध कराने पर जोर दिया जाएगा. उन्‍होंने लाल किले से भाषण में कहा, ‘जन औषधि योजना के तहत गरीबों और जरूरतमंदों को किफायत दाम में दवाइयां मिल रही हैं. अब तक 75,000 से ज्‍यादा हेल्‍थ व वेलनेस सेंटर को तैयार किया गया है. हम ब्‍लॉक स्‍तर पर अस्‍पतालों के नेटवर्क पर काम कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी का ऐलान, 100 लाख करोड़ रुपये में गतिशक्ति योजना बनेगी, आप भी जानिए क्‍या होंगे इसके फायदे



[ad_2]

You may also like

Leave a Comment