Friday, September 24, 2021
Home > news > बड़ी खबर- सरकार आज कर सकती है 50,000 करोड़ रुपये के राहत पैकेज का ऐलान | Government of India may announce Stimulus package for Exporters Piyush Goyal Know in Hindi
news

बड़ी खबर- सरकार आज कर सकती है 50,000 करोड़ रुपये के राहत पैकेज का ऐलान | Government of India may announce Stimulus package for Exporters Piyush Goyal Know in Hindi

खबर सरकार आज कर सकती है 50000 करोड़ रुपये

[ad_1]

केंद्र सरकार आज एक्सपोटर्स के लिए राहत पैकेज का ऐलान कर सकती है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक्सपोर्टर्स को 50,000 करोड़ रुपये के पैकेज का ऐलान हो सकता है.

केंद्र सरकार आज कर सकती है बड़ा ऐलान

केंद्र सरकार आज एक्सपोर्टर्स के लिए बड़ा ऐलान कर सकती है. CNBC आवाज़ को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक,  शाम 4:30 बजे कॉमर्स मिनिस्टर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एक्सपोर्टर्स के लिए बड़ा ऐलान कर सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक एक्सपोर्टर्स को 50,000 करोड़ राहत देने पर विचार हो सकता है. MEIS और SCIES के पिछले बकाये का भुगतान जल्द होगा. साथ ही बढ़ते मालभाड़े की वजह से एक्सपोर्टर्स को हो रहे नुकसान से भी राहत देने की योजना है.

आज क्या हो सकता है

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सरकार एक्सपोर्ट बढ़ाने की तैयारी में है. इसीलिए बड़े ऐलान हो सकते है. साथ ही, माला-भाड़ा महंगा होन से एक्सपोर्टर्स के लिए एक्सपोर्ट करना महंगा होता जा रहा है. अब इन कारोबारियों को राहत देने के लिए सरकार कदम उठा सकती है.

इसके अलावा एग्रीकल्चर एक्सपोर्ट को भी बढ़ावा देने की योजना है. आपको बता दें कि किसानों के दम पर भारत 2019 में कृषि उत्पादों का निर्यात करने वाले टॉप 10 देशों में शामिल हो गया.

विश्व व्यापार संगठन ( WTO) के 25 साल के एग्री एक्सपोर्ट ट्रेंड के मुताबिक भारत चावल, कॉटन, सोयाबीन ( Soyabean) और मीट के एक्सपोर्ट (Meat Export) में दुनिया के शीर्ष देशों में शामिल हो गया है.

2019 में दुनिया के कुल कृषि उत्पाद निर्यात में भारत की हिस्सेदारी 3.1 फीसदी रही और मैक्सिको की 3.4 फीसदी. मैक्सिको ने सातवें स्थान पर रहे मलयेशिया की जगह ले ली जबकि भारत ने 9वें स्थान पर रहे न्यूजीलैंड की जगह ली. चीन 1995 में छठे नंबर पर था लेकिन 2019 में यह चौथे नंबर पर पहुंच गया.

1995 में थाईलैंड चावल ( Rice) का निर्यात करने वाला सबसे बड़ा देश था. दुनिया के कुल चावल निर्यात में उसकी हिस्सेदारी 38 फीसदी थी. भारत की हिस्सेदारी 26 और अमेरिका की 19 फीसदी थी. लेकिन 2019 में भारत ने चावल निर्यात में थाईलैंड को पछाड़ दिया है.

दुनिया के कुल चावल निर्यात में भारत की हिस्सेदारी बढ़ कर 33 फीसदी हो गई वहीं थाईलैंड 20 फीसदी पर सिमट गया. भारत 2019 में कॉटन निर्यात करने वाला तीसरा बड़ा देश था. कुल कॉटन निर्यात ( Cotton Export) में इसकी हिस्सेदारी 7.6 फीसदी थी लेकिन यह चौथा बड़ा कॉटन आयातक भी रहा.

दुनिया के कुल सोयाबीन निर्यात में भारत की हिस्सेदारी 0.1 फीसदी है. लेकिन सोयाबीन निर्यात करने वाले सबसे बड़े देशों में यह नौवें नंबर पर है.

वहीं मीट और खाने योग्य मीट पीस के निर्यात में यह दुनिया में आठवें नंबर पर है. इसमें इसकी हिस्सेदारी ग्लोबल ट्रेड का चार फीसदी है. हालांकि 1995 में गेहूं के निर्यात में भारत दुनिया में सातवें नंबर पर था. लेकिन 2019 में यह टॉप 10 में जगह बनाने में नाकाम रहा.

ये भी पढ़ें-आम आदमी को लगेगा झटका! अक्टूबर से खाना बनाना और कार चलाना हो सकता है महंगा, जानिए क्यों और कैसे

[ad_2]

Vertika
http://views24hours.com
Vertika is the lead writer on views24hours.com. With experience from top news agencies, she knows all about writing and explaining the stuff to readers. Keep reading

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *