Friday, September 24, 2021
Home > news > SBI ने फ्रॉड रोकने के लिए शुरू किया ये नया फीचर, अब YONO ऐप पर फुल प्रूफ होगा ट्रांजेक्शन | Yono sbi sim binding feature how to login SBI yono New update Yono lite new sim login process
news

SBI ने फ्रॉड रोकने के लिए शुरू किया ये नया फीचर, अब YONO ऐप पर फुल प्रूफ होगा ट्रांजेक्शन | Yono sbi sim binding feature how to login SBI yono New update Yono lite new sim login process

sbi bank 1

[ad_1]

Sim Binding पूरी तरह से एक सिक्योरिटी फीचर है जिसे ग्राहकों की सुरक्षा को देखते हुए लॉन्च किया गया है. इसमें योनो ऐप आपके सिम को अपने आप वेरिफाई करता है.

सिम बाइंडिंग के नए फीचर से फ्रॉड से मिलेगी सुरक्षा (सांकेतिक तस्वीर)

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने एक नया सिक्योरिटी फीचर लाया है जिससे ट्रांजेक्शन सुरक्षित होगा. इस फीचर की बदौलत साइबर फ्रॉड से सुरक्षा मिलेगी. इस नई फीचर का नाम सिम बाइंडिंग (sim binding) है. इस फीचर के आने से एसबीआई योनो (SBI YONO) मोबाइल ऐप पर लॉगिन होने का तरीका भी बदल गया है. ग्राहकों को इसके बारे में जान लेना जरूरी है कि क्योंकि यह रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा बन चुका है.

पहले का सिस्टम ये था कि एसबीआई की तरफ से मिले लॉगिन आईडी और पासवर्ड या खुद के बनाए लॉगिन-पासवर्ड से एसबीआई योनो पर लॉगिन होते थे. लेकिन सिम बाइंडिंग (sim binding) फीचर आने से लॉगिन का पूरा तरीका बदल गया है. इस फीचर में पहले आपको मोबाइल नंबर के साथ सिम को भी वेरिफाई करना होगा. तभी आपका योनो ऐप काम कर सकेगा. जिस मोबाइल में आपका रजिस्टर्ड नंबर चल रहा है, उसी हैंडसेट में SBI YONO ऐप को इंस्टॉल करना होगा. आप जैसे ही योनो ऐप खोलेंगे तो आपके फोन से एक ऑटो जनरेटेड मैसेज आएगा. इस मैसेज के आधार पर एक लॉगिन पेज डिसप्ले होगा. यह तभी होगा जब आपका मोबाइल नंबर एसबीआई में रजिस्टर होगा.

सिम बाइंडिंग से बढ़ती है सुरक्षा

इसके बाद आपको लॉगिन आईडी और पासवर्ड डालकर एसबीआई योनो ऐप को खोलना होगा. सिम बाइंडिंग प्रोसेस से यह आपके खाते की सुरक्षा को बढ़ाता है. आपके बैंक खाते को कोई यूं ही एक्सेस नहीं कर पाएगा. अगर कोई लॉगिन आईडी-पासवर्ड जान भी जाए तो योनो में लॉगिन नहीं कर पाएगा क्योंकि उसका सिम एसबीआई में वेरिफाई नहीं है. अगर पहले से आपको फोन में योनो ऐप है तो उसे अपडेट कर सिम बाइंडिंग की सुरक्षा पा सकते हैं. सिम बाइंडिंग प्रोसेस पूरा होने के बाद आपको एमपिन बनाना होता है जिसके जरिये सभी तरह की बैकिंग सुविधाएं योनो ऐप पर मिलेंगी.

सिक्योरिटी फीचर है सिम बाइंडिंग

Sim Binding पूरी तरह से एक सिक्योरिटी फीचर है जिसे ग्राहकों की सुरक्षा को देखते हुए लॉन्च किया गया है. इसमें योनो ऐप आपके सिम को अपने आप वेरिफाई करता है. अगर आपका मोबाइल नंबर एसबीआई में दर्ज नहीं है और उसी नंबर पर योनो ऐप चला रहे हैं तो योनो डाउनलोड तो हो जाएगा लेकिन सिम को वेरिफाई नहीं कर पाएगा. ऐसे में योनो ऐप बेकार हो जाएगा. बाद में आपको उसे अन-इंस्टॉल ही करना होगा. अगर एक ही मोबाइल नंबर पर कई खाते दर्ज हैं तो योनो में वही नंबर डालना होगा, जिस पर योनो ऐप को चलाना है. साथ में डेट ऑफ बर्थ को भी डालना होता है.

एसबीआई के योनो और योनो लाइट वन ऐप मोबाइल फोन ‘वन यूजर-वन आरएमएन’ के बेसिक रूल के साथ काम करेंगे. यानी कि एक रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के साथ एक ही योनो ऐप चला सकेंगे. एसबीआई का नया सिम बाइंडिंग फीचर दो अलग-अलग यूजर को एक डुअल सिम हैंडसेट में अलग-अलग योनो और योनो लाइट का उपयोग करने की अनुमति देता है. सिम कार्ड का वेरिफिकेशन होने के बाद योनो और योनो लाइट ऐप पर साइबर फ्रॉड से बचने के कई उपाय मिल सकेंगे. ग्राहकों की बैंकिंग पहले से ज्यादा सुरक्षित हो सकेगी. साइबर फ्रॉड की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए स्टेट बैंक ने यह नई व्यवस्था शुरू की है.

ऐसे करें सिम वेरिफिकेशन

  • एंड्रॉयड यूजर प्ले स्टोर से एसबीआई योनो लाइट ऐप डाउनलोड करें और उसे खोलें
  • एसबीआई से रजिस्टर करने के लिए सिम1 या सिम2 को सलेक्ट करें
  • अगर सिंगल सिम है तो सिम सेलेक्शन करने की जरूरत नहीं है
  • आपके मोबाइल नंबर पर एक मैसेज आएगा जिसमें मोबाइल डिवाइस से एक एसएमएस भेजने को कहा जाएगा
  • अब Proceed बटन पर क्लिक करें. आपको एक यूनिक कोड आपके मोबाइल नंबर पर आएगा
  • अब आपको रजिस्ट्रेशन स्क्रीन पर रीडायरेक्ट कर दिया जाएगा. यहां आपको यूजरनेम और पासवर्ड डालना होता है
  • अंत में register बटन पर क्लिक करना होगा
  • रजिस्ट्रेशन के लिए टर्म एंड कंडीशन को स्कीकारें और अंत में ok पर क्लिक करें
  • रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक एक्टिवेशन कोड मिलेगा. यह कोड अगले 30 मिनट के लिए वैध होगा
  • अब एक्टिवेशन प्रोसेस को पूरा करने के लिए पहले से मिला कोड डालना होगा
  • ये प्रोसेस पूरा करने के बाद यूजर योनो लाइट ऐप पर लॉगिन कर सकता है

ये भी पढ़ें: IRCTC News: क्या होता है ipay गेटवे, जिसमें ​ट्रेन टिकट कैंसिल कराने पर तुरंत रिफंड हो जाता है आपका पैसा?



[ad_2]

Vertika
http://views24hours.com
Vertika is the lead writer on views24hours.com. With experience from top news agencies, she knows all about writing and explaining the stuff to readers. Keep reading

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *