Thursday, November 26, 2020
Home News भारतीय आर्मी को Delete करने होंगे यह 89 Apps

भारतीय आर्मी को Delete करने होंगे यह 89 Apps

भारत सरकार इन दिनों देश की सुरक्षा को लेकर बिलकुल अलर्ट हो चुकी है। पहले सेक्योरिटी के लिहाज से भारत सरकार ने 59 चीनी ऐप्स को बैन करने का फैसला लिया था। अब भारतीय आर्मी को ऐसी 89 ऐप्स की लिस्ट सौपी गई हैं जिनमें फेसबुक, इस्टा और स्नैपचैट जैसी ऐप भी शामिल है(Delete 89 Apps)। सरकार ने सैनिको को यह निर्देश दिए हैं कि इन ऐप्स को अपने फोन से डिलीट कर दें। इसके पीछे का कारण भी सेफ्टी ही बताया गया है। सरकार की ओर से कहा गया है कि इन ऐप्स से सूचनाएं लीक होने की आशंका है(Delete 89 Apps)। 

Govt Asked Army Personnel To Delete 89 Apps

  • मैसेजिंग प्लेटफॉर्म: फेसबुक, बाइडू, इंस्टाग्राम, एलो, स्नैपचैट, वीचैट, क्यू क्यू, किक, आऊ वो, निम्बूज, हेलो, क्यू जोन, शेयर चैट, वाइबर, लाइन, आईएमओ, स्नो, टू-टॉक, हाइक
  • वीडियो होस्टिंग: टिक-टॉक, लाइकी, समोसा, क्वाली, कंटेंट शेयरिंग, शेयर इट, जेंडर, जाप्या 
  • वेब ब्राउजर: यूसी ब्राउजर, यूसी ब्राउजर मिनी 
  • वीडियो एंड लाइव स्ट्रीमिंग: लाइव मी, बिगो लाइव, जूम, फास्ट फिल्म्स, वी मेट, अप लाइव, विगो वीडियो 
  • यूटिलिटी ऐप्स: कैम स्कैनर, ब्यूटी प्लस, ट्रू कॉलर 
  • गेमिंग ऐप्स: पबजी, नोनो लाइव, क्लैश ऑफ किंग्स, ऑल टेंसेंट गेमिंग एप्स, मोबाइल लीजेंड्स 
  • ई कॉमर्स: कल्ब फैक्ट्री, अली एक्सप्रेस, चाइना ब्रांड्स, गियर बेस्ट, बैंग गुड, मिनिन द बॉक्स, टाइनी डील, डीएचएच गेट, लाइटेन द बॉक्स, डीएक्स, एरिक डेस्क, जॉफुल, टीबीड्रेस, मोडिलिटी, रोजगल, शीन, रोमवी 
  • डेटिंग ऐप्स: टिंडर, ट्रूअली मैडली, हैप्पन, आइल, कॉफी मीट्स बैजल, वू, ओके क्यूपिड, हिंग, एजार, बम्बली, टैनटैन, एलीट सिंगल्स, टैजेड, काउच सर्फिंग   
  • एंटी वायरस: 360 सिक्युरिटी 
  • न्यूज, ऑनलाइन बुक रीडिंग ऐप्स: न्यूज डॉग, डेली हंट, प्रतिलिपि, वोकल 
  • लाइफस्टाइल ऐप: पॉपएक्सो
  • हेल्थ ऐप: हील ऑफ वाई 
  • म्यूजिक ऐप्स: हंगामा, सांग्स.पीके 
  • ब्लॉगिंग/माइक्रो ब्लॉगिंग: येल्प, तुम्बिर, रेडिट, फ्रेंड्स फीड, प्राईवेट ब्लॉग्स

Delete 89 Apps

सरकार द्वारा जारी की गई इस सूची को देख कर तो साफ हो जाते है कि अब देश किसी भी तरह सिक्योरिटी और सेफ्टी से समझौता नहीं करने वाला है।

चीन के खिलाफ सख्त कदम

इससे पहले भारत सरकार पहले 59 चीनी ऐप्स बैन कर दी थी, इन ऐप्स में सबसे नामी ऐप टिक टॉक का नाम भी शामिल है। हालांकि इन ऐप्स को सिक्योरिटी की वजह से बैन किया गया हो। लेकिन चीनी सरकार इसे विरोध का तरीका बता रही है। इससे पहले गलवान घाटी में हुई हिंसा के बाद ट्रेड ने पहले ही भारतीय कलाकारो और नामी लोगों को पत्र लिख कर चीनी कंपनियों के प्रोडक्ट की एंर्डोस्मेंट छोड़ने को कहा था। जिस पर अब कार्तिक आर्यन जैसे सितारे अमल भी कर चुके हैं. वहीं कगंना रनौट ने भी चीनी कंपनियों के प्रोडक्ट के विज्ञापन ना करने का फैसला लिया था।

ऐप्स बैन करने का यह है कारण

सरकार ने कहा था कि पिछले कुछ दिनों से 130 करोड़ भारतीयों की प्राइवेसी और डेटा की सुरक्षा को लेकर चिंताएं जाहिर की जा रही थीं। इनमें कहा गया था कि इन ऐप्स से सम्प्रभुता और एकता को खतरा है। एंड्राॅयड और आईओएस प्लेटफॉर्म पर मौजूद कुछ मोबाइल ऐप्स का गलत इस्तेमाल किया जा रहा है।

ये ऐप्स गुपचुप और अवैध तरीके से यूजर का डेटा चोरी कर भारत के बाहर मौजूद सर्वर पर भेज रहे थे। भारत की सिक्युरिटी और डिफेंस के लिए इस तरह से जमा किए गए डेटा का दुश्मनों के पास पहुंच जाना चिंता की बात है। यह भारत की एकता और सम्प्रभुता के लिए खतरा है। यह बेहद गहरी चिंता का विषय है और इसमें तुरंत कदम उठाना जरूरी था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

किसान मित्र योजना 2020 | Kisan Mitra Yojna Online Apply Kaise Kare | Jaane Kya Hai Schemes

भारत एक कृषि प्रधान देश है जहां की 70% आबादी गांव में निवास करती है यहां के लोग पारंपरिक खेती करते हैं...

पंजाब घर घर रोजगार योजना जाने क्या है स्कीम ऑनलाइन अप्लाई कैसे करे

पंजाब में बढ़ती बेरोजगारी को देखते हुए वहां के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने पंजाब घर-घर रोजगार योजना ऑनलाइन पोर्टल शुरू किया है...

शुरू हुई झारखण्ड में दसवीं, बाहरवीं Compartment Exam के लिए रजिस्ट्रेशन, jac.jharkhand.gov.in पर करें आवेदन

JAC Compartment के लिए 10वीं और 12वीं कक्षा की कंपार्टमेंट परीक्षा शुरू कर रही है। इस कंपार्टमेंट परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन...

फर्जी रेलवे भर्ती 2020 – झांसे में न आएं, ऐसे समझें भर्ती असली है या फर्जी

हाल ही में रेलवे की जॉब की vacancies से संबंधित एक विज्ञापन अर्थात एडवर्टाइजमेंट प्रकाशित अधिसूचित हुआ है जिसमें लगभग 5000 रिक्त...

Recent Comments