BOOSTER VACCINE REGISTRATION कैसे कराएं, 3rd Dose Booster Shot Slot Booking

ओमीक्रॉन वैरीअंट/omicron variant आने के बाद से भारत में कोरोना संक्रमितो की संख्या में काफी तेजी देखने को मिल रही हैं। पिछले कुछ दिनों से रोजाना एक लाख से ज्यादा मामले सामने निकल कर आ रहे हैं। ऐसे में सरकार इसको लेकर काफी चिंतित हो गई है। इसी को देखते हुए और कोविड महामारी /Covid Pandemic के प्रभाव को कम करने के लिए देशभर में बूस्टर डोज को लगाने का काम शुरू हो गया है। Booster dose के लिए आप आनलाइन बुकिंग से स्लॉट बुक कर सकते है।

बूस्टर डोज/Booster dose क्या है?

किसी खास रोगाणु या विषाणु के खिलाफ लड़ने में बूस्टर डोज शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को और अधिक मजबूत करता है। बूस्टर डोज शरीर में और ज्यादा एंटीबॉडीज का निर्माण करते हुए हमे अनेक प्रकार की बीमारीयों के विरुद्ध सढृढ बनाने का काम करती है। बूस्टर शॉट से हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में सुधार होता है।बूस्टर डोज प्रिकॉशन या सावधानी के तौर पर लगाए जा रहे हैं अतःइसे कोविन पोर्टल पर प्रिकॉशनरी डोज/Precautionary Dose के नाम से दिखाया गया है।

कब लगवा सकते हैं बूस्टर डोज?

आँकडो और जानकारों के अनुसार कोरोना की पहली और दूसरी वैक्सीन कम से कम 6 महीने तक असर करती है यानी वैक्सीन का असर 6 महीने तक तो रहता ही है इस टाइम पीरियड के बाद ही बूस्टर डोज की आवश्यकता होती हैं। अभी भारत में उन्हीं लोगों को बूस्टर शॉट दी जा रही है जिन्हे वैक्सीन के पहले दोनो डोज लगाएं 9 महीने का समय हो गया है। बूस्टर डोज हेतु कोविन वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन होना आवश्यक है।

यह भी पढ़ें >  Jharkhand petrol subsidy के लिए ऐसे करें आवेदन , CM Supports App करना होगा डाउनलोड

बूस्टर वैक्सीन /Booster vaccine के फायदे:

  • कोरोनावायरस का कोई स्थाई इलाज अब तक मिला नहीं है, इससे बचाव के लिए वैक्सीन को ही असरदार माना जा रहा है। 
  • अब तक यह देखा गया है कि कोविड-19 के टीके से महामारी का असर कम हुआ है, अधिकांश पीड़ितों को अस्पताल में भर्ती होकर इलाज की आवश्यकता नहीं पड़ रही, और साथ ही कोरोना का टीका मृत्यु दर को कम करने में भी प्रभावी रहे हैं। 
  • अध्ययनों से पता चला है कि BOOSTER SHOT/ बूस्टर शॉट ना केवल प्रतिरक्षा को बढ़ाता है बल्कि ओमिक्रोन जैसे वेरिएंट के खिलाफ भी आपके प्रतिरक्षा तंत्र (Immune System) को मजबूत करने में मदद करता है।
  • बूस्टर डोज यह सुनिश्चित करेगी कि कोविड-19 के खिलाफ आपका संरक्षण और भी अधिक मजबूत और लंबा चलने वाला है और यह संक्रमण तथा वायरस के फैलाव की रोकथाम भी करेगी।

Booster Shot के लिए पात्रता

  • बूस्टर डोस लगवाने के पहले आपको कोरोना वायरस के दोनों टीके लगवाना आवश्यक है।
  • कोरोना की दूसरी वैक्सीन लगने के 9 महीनों (39 हफ्तों) के बाद ही बूस्टर डोज यानी प्रिकॉशन डोज/Precaution Dose लगेगी।

BOOSTER DOSE/ VACCINE REGISTRATION करने की प्रक्रिया:

  • ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए आपको सर्वप्रथम कोविन/Cowin की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा या फिर नीचे दी गई लिंक पर जाए 

https://cowin.gov.in

  • इस लिंक पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक होम पृष्ठ खुलेगा जिसमें Book Your Slot/ बुक योर स्लॉट ऑप्शन पर क्लिक करें।
BOOSTER VACCINE REGISTRATION
  • अब दिखाई दे रहे पेज पर मोबाइल नंबर दर्ज करें एवं गेट ओटीपी/Get OTP ऑप्शन पर क्लिक करें।
Booster Shot Slot Booking
  • आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा जिसे आप को दिखाई दे रहे पेज पर प्रविष्ट करना होगा एवं वेरीफाई एंड प्रोसीड/Verify & proceed ऑप्शन पर क्लिक करें।
BOOSTER DOSE/ VACCINE REGISTRATION करने की प्रक्रिया:
  • अब आपको स्क्रीन पर एक पेज दिखाई देगा जिसमें आपके दोनों डोज से संबंधित जानकारी होगी। अब आपको बूस्टर डोज की बुकिंग के लिए प्रिकॉशन डोज/Precaution Dose पर क्लिक करना होगा।
बूस्टर डोज के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आप अपनी सुविधा अनुसार स्लॉट एवं टाइम का चयन कर कंफर्म/Confirm ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • इस प्रकार आप बूस्टर डोज के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन/ स्लॉट बुक करा सकते हैं।
यह भी पढ़ें >  कौन हैं Reena Dwivedi और क्यों हैं चर्चा में, जाने Viral Western Dress Photo के बारे में

सामान्यतः पूछे जाने वाले प्रश्न:

1) बूस्टर डोज कौन लगवा सकता है?

उ- यदि आपको कोरोना वैक्सीन की दोनों dose लग चुके हैं तो आप बूस्टर डोज लगवाने के लिए पात्र हैं।

2) कोरोना वैक्सीन एवं बूस्टर डोज के मध्य कितनी अवधि निर्धारित की गई है?

उ- कोरोना की दूसरे वैक्सीन लगने के 9 महीने(39 हफ्तों) बाद ही बूस्टर डोज यानी प्रिकॉशनरी डोज लगेगी।

3) बूस्टर डोज लगवाना क्यों आवश्यक है?

उ- कोरोनावायरस के टीको का प्रभाव कुछ समय बाद कम होने लगता है जिसके कारण शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बनाए रखने के लिए बूस्टर डोज लगाना आवश्यक है।

Leave a Comment