Friday, October 15, 2021
Home > news > आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना: 30 जून से बढ़ाकर अगले साल मार्च तक बढ़ाने पर विचार, जानिए- आपको कैसे मिलेगा फायदा | All you need to know about Pradhanmantri Aatmanirbhar Bharat Rozgar Yojana Deadline to be Extend to 31 march 2022, how to apply for job
news

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना: 30 जून से बढ़ाकर अगले साल मार्च तक बढ़ाने पर विचार, जानिए- आपको कैसे मिलेगा फायदा | All you need to know about Pradhanmantri Aatmanirbhar Bharat Rozgar Yojana Deadline to be Extend to 31 march 2022, how to apply for job

pm modi 1 1

[ad_1]

Aatmanirbhar Bharat Rozgar Yojana के अंतर्गत कर्मचारी और संस्था दोनों को ही लाभ प्रदान किया जाएगा. ईपीएफओ के अंतर्गत रजिस्टर्ड संस्था यदि नए रोजगार के अवसर प्रदान करती है तो उन संस्थाओं को लाभ मिल पाएंगे.

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना (Aatmanirbhar Bharat Rozgar Yojana) की मौजूदा समयसीमा 30 जून है

Aatmanirbhar Bharat Rozgar Yojana Deadline to be Extend: केंद्र सरकार, आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना (ABRY Scheme) की मौजूदा समयसीमा को 30 जून से बढ़ाकर अगले साल मार्च तक करने पर विचार कर रही है. समाचार एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से बताया कि श्रम एवं रोजगार मंत्रालय कोरोना महामारी के बीच देश में नई नियुक्तियों को प्रोत्साहन देने के लिए इस योजना की समयसीमा बढ़ा सकता है.

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने ABRY Scheme को पिछले साल दिसंबर में मंजूरी दी थी. इस योजना के तहत सरकार कर्मचारियों के अनिवार्य भविष्य निधि अंशदान का भुगतान करने के अलावा दो साल के लिए नई नियुक्तियों पर नियोक्ताओं के योगदान का भी भुगतान करती है. 22,810 करोड़ रुपये के व्यय की इस योजना के तहत एक अक्टूबर, 2020 से 30 जून, 2021 तक नियुक्त होने वाले कर्मचारी आएंगे.

यूनियन कैबिनेट को भेजा जाएगा प्रस्ताव

सूत्रों ने कहा कि श्रम एवं रोजगार मंत्रालय एबीआरवाई की समयसीमा को 30 जून, 2021 से बढ़ाकर मार्च, 2022 तक करने के लिए कैबिनेट प्रस्ताव को जारी करने की प्रक्रिया में है. अभी तक इस योजना से 21 लाख नए नियुक्त कर्मचारियों को लाभ हुआ है. यह सरकार के 58.5 लाख के अनुमान से काफी कम है. सूत्रों ने कहा कि ऐसे में श्रम मंत्रालय योजना की समयसीमा को बढ़ाकर अगले साल मार्च तक करना चाहता है.

महामारी के दौरान सरकार ने रोजगार सृजन और कर्मचारियों को राहत के लिए कई कदम उठाए हैं. एबीआरवाई इनमें से एक उपाय है. इसके तहत सरकार ने 2020 से 2023 तक क्रियान्वयन की पूरी अवधि के लिए 22,810 करोड़ रुपये का आवंटन किया है. इस योजना के लिए कोष का आवंटन 58.5 लाख लाभार्थियों की संख्या को ध्यान में रखकर किया गया था.

नई नियुक्तियों पर सरकार करेगी ईपीएफ में अंशदान

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को कोरोना संक्रमण के दौरान हुई रोजगार के नुकसान की भरपाई करने के लिए शुरू किया गया है. इसके अंतर्गत नई नियुक्ति पर 2 साल तक सरकार द्वारा कर्मचारी भविष्य निधि का योगदान किया जाएगा. यह योगदान वेतन का 12–12 फीसदी होगा। इस योजना के माध्यम से नियोक्ता रोजगार सृजित करने के लिए प्रोत्साहित होंगे. योजना को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के माध्यम से कार्यान्वित किया जाएगा. 17 मार्च 2021 को राज्यसभा में श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने बताया था कि इस योजना के अंतर्गत अब तक लगभग 16.5 लाख नागरिकों को लाभ पहुंचा है.

निकाले गए कर्मियों को वापस लेती हैं कंपनियां तो…

Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana के अंतर्गत यदि कंपनियां लॉकडाउन के दौरान नौकरी से निकाले गए कर्मचारियों को वापस लेती हैं तो उन्हें 12 फीसदी से लेकर 24 फीसदी तक की ईपीएफओ द्वारा वेतन सब्सिडी प्रदान की जाएगी. सरकार द्वारा कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के माध्यम से अगले 2 साल में 10 लाख नौकरियां पैदा करने का लक्ष्य निर्धारित किया है.

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के लाभार्थी

15,000 रुपये से कम वेतन वाले वे कर्मचारी, जो 1 अक्टूबर 2020 से पहले किसी ईपीएफओ रजिस्टर्ड प्रतिष्ठान में नियुक्त नहीं थे और उनके पास यूनिवर्सल अकाउंट नंबर नहीं था या फिर ईपीएफ मेंबर अकाउंट नंबर 1 अक्टूबर 2020 से पहले नही था, उन्हें इस योजना का लाभ मिलेगा.

वे कर्मचारी जिनके पास यूनिवर्सल अकाउंट नंबर था और उनको 15000 रुपये से कम की वेतन प्राप्त हो रही थी और जिनकी नौकरी कोरोनावायरस संक्रमण के कारण 1 मार्च 2020 से 30 सितंबर 2020 के बीच चली गई हो, साथ ही उनकी किसी भी ईपीएफ रजिस्टर्ड प्रतिष्ठान में 30 सितंबर 2020 से पहले नियुक्ति ना हुई हो, उन्हें भी योजना का लाभ मिलेगा.

आप कैसे कर सकते हैं आवेदन?

  • सबसे आपको ईपीएफओ की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा.अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा.
  • होम पेज पर आपको सर्विसेस के टैब पर क्लिक करना होगा.
  • अब आपको Employees के टैब पर क्लिक करना होगा.
  • Employee Registration के लिए आपको रजिस्टर हेयर (Register here) के लिंक पर क्लिक करना होगा.
  • अब आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुलकर आएगा.
  • आपको रजिस्ट्रेशन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे कि नाम, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर आदि दर्ज करना होगा.
  • इसके पश्चात आपको सब्मिट बटन पर क्लिक कर देना है.

कर्मचारी और नियोक्ता कंपनी… दोनों को मिलेगा फायदा

  • इस योजना के अंतर्गत कर्मचारी और संस्था दोनों को ही लाभ प्रदान किया जाएगा. ईपीएफओ के अंतर्गत रजिस्टर्ड संस्था यदि नए रोजगार के अवसर प्रदान करती है तो उन संस्थाओं को इस योजना के लाभ मिल पाएंगे.
  • ऐसी संस्थाएं जिनकी कर्मचारी क्षमता 50 से कम है और वह संस्थाएं दो या दो से अधिक कर्मचारियों को रोजगार प्रदान करती है और उन कर्मचारियों को भविष्य निधि के अंतर्गत पंजीकृत करती है तो ही संस्था व कर्मचारी दोनों को योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा.
  • इसी प्रकार ऐसी संस्थाएं जिनकी कर्मचारी क्षमता 50 से अधिक है तो उनको न्यूनतम 5 नए कर्मचारियों को रोजगार प्रदान कर उनको ईपीएफओ के अंतर्गत पंजीकृत करना अनिवार्य है.
  • जो भी संस्थाएं आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का लाभ उठाना चाहती है उनका स्वयं का ईपीएफओ के अंतर्गत पंजीकृत/रजिस्टर्ड होना आवश्यक है ताकि नए कर्मचारी और संस्था दोनों को लाभ दिया जा सके.

(इनपुट: PTI और pmmodiyojana.in)

यह भी पढ़ें: बिना संबंध बनाए ही बच्‍चे पैदा करते हैं ये जीव… ‘मादा’ को नहीं पड़ती ‘नर’ की जरूरत, कैद में रखें तो भी हो जाती हैं प्रेग्नेंट!

[ad_2]

Vertika
http://views24hours.com
Vertika is the lead writer on views24hours.com. With experience from top news agencies, she knows all about writing and explaining the stuff to readers. Keep reading

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *