Kundli Matching Online कैसे करें

Kundli Matching Online संभावित वर और वधु की कुंडलियों का मिलान करने का एक आसान और सबसे सटीक तरीका है। ऑनलाइन कुंडली मिलान जोड़ों के बीच अनुकूलता विश्लेषण के लिए वैदिक ज्योतिष की एक प्राचीन पद्धति का नया डिजिटल रूप है। हिंदू वेदिक ज्योतिष के अनुसार कुंडली मिलान, गुण मिलान की अष्टकूट विधि द्वारा किया जाता है। एक हिंदू विवाह में एक सुखी दीर्घकालिक और सफल वैवाहिक जीवन के लिए एक अच्छा गुण मिलान महत्वपूर्ण है। वर्तमान समय में इंटरनेट पर कई प्रकार के कुंडली मिलान ऑनलाइन सॉफ्टवेयर/ Kundali Matching Software उपलब्ध है जिनकी सहायता से आप ऑनलाइन कुंडली मिलान/मेचिंग कर सकते हैं।

Online Kundli Milan क्या हैं?

अक्सर विवाह के प्रथम चरण के रूप में कुंडली का मिलान कराया जाता है। कुंडली मिलान का अर्थ होता है दो कुंडलियों की आपस में तुलना करना। इसे अंग्रेजी में Kundli/Horoscope Matching भी कहते हैं। हिंदू परंपरा में विवाह के पूर्व लड़के और लड़की की कुंडलियों की आपस में तुलना की जाती है कुंडली मिलाकर दोनों के गुण दोष देखे जाते हैं तथा यह अनुमान लगाया जाता है की विवाह के पश्चात दोनों का वैवाहिक जीवन किस प्रकार रहेगा। कुंडली मिलान को गुण मिलान भी कहते हैं क्योंकि कुंडली में मौजूद गुणों का मिलान किया जाता है। हमारे ज्योतिषियों की बात करें तो उनके अनुसार मंगल दोष मिलान(Mangal Dosh Milan) और नाड़ी मिलान(Nadi Milan), कुंडली मिलान के सबसे महत्वपूर्ण मापदंड है।

Online Kundli Milan की विधि:

  • ऑनलाइन कुंडली मिलान के लिए आपको वर वधु का नाम, उनकी जन्म की तिथि, जन्म स्थान,तथा जन्म का समय ज्ञात होना आवश्यक है। 
  • ज्योतिष शास्त्र के अंतर्गत आपके जन्म से जुड़ी हुई जानकारी जैसे तिथि, समय और स्थान की सहायता से कुंडली बनती है। विवाह के समय वर-वधू की कुंडली की आपस में तुलना की जाती है। गुण दोषों को देखा जाता है तथा उसके आधार पर अनुमान लगाया जाता है कि उनका आने वाला वैवाहिक जीवन कैसा रहेगा। कुंडली मिलाते समय नाडी कूट को सर्वोच्च प्राथमिकता दी गई है।
  • कुंडली मिलान की पूरी प्रक्रिया को वैदिक ज्योतिष/vedic science में अष्टकूट मिलन कहा जाता है। यहां अष्ट का अर्थ 8 और कूट से आशय श्रेणी से है। मापदंडों की यह 8 श्रेणियां जीवन के विभिन्न पहलुओं को दर्शाती है। इनमें से प्रत्येक में कुछ बिंदु होते हैं जो कुल मिलाकर कुंडली में 36 गुण बनाते हैं। जितने अधिक गुण मेल खाते हैं आप अपने जीवन में दूसरे व्यक्ति के साथ उतने ही अधिक अनुकूल होते हैं। 
  • यह आठ मापदंड निम्न है-
यह भी पढ़ें >  ऑनलाइन राशन कार्ड अप्लाई इन बिहार - ऐसे करें Bihar Ration Card Apply

                    वर्ण,वश्य,तारा,योनि,रस्याधिपति,गण,राशि,नाडी।

  • कुल मिलाकर यह माना जाता है कि विवाह के फलदाई होने के लिए कम से कम 18 गुणों का मेल होना आवश्यक है। कौन कितने अधिक मेल खाते हैं यह युगल के लिए उतना ही सुखद होता है।

कुंडली मिलान या गुण मिलान का महत्व:

ग्रहों और खगोलीय पिंड का हमारे जीवन पर अच्छा खासा प्रभाव पड़ता है। इसलिए जब भी विवाह की बात आए तो यह आवश्यक है कि ग्रह अपना आशीर्वाद प्रदान करें ताकि वैवाहिक जीवन में वर और वधु के मध्य सामंजस्य रहे खुशियां, सफलताएं और शांति आए। इसलिए ऑनलाइन कुंडली मिलान विवाह के लिए महत्वपूर्ण हो जाता है । कुंडली मिलान एक जोड़े का वैदिक संगत विश्लेषण है जिससे युगल के समीकरण का पता लगाया जा सकता है।

इंटरनेट पर उपलब्ध विभिन्न वेबसाइट जैसे की shaadi.com, mpanchang.com, astrological.com, vedcrishi.in, astrotalk.com आदि का उपयोग करके ऊपर बताई गई जानकारियों के माध्यम से ऑनलाइन कुंडली मैचिंग कर सकते हैं

सामान्यतः पूछे जाने वाले प्रश्न:

1)कुंडली मिलान क्या है?

उ- हिंदू धर्म के अनुसार विवाह पूर्व युगल की कुंडलियों का मिलान किया जाता है, कुंडली मिलान हिंदू मान्यता के अनुसार विवाह दृष्टिकोण से एक बहुत ही महत्वपूर्ण प्रक्रिया है।

3) कुंडली मिलान किस आधार पर किया जाता है?

उ- कुंडली मिलान के लिए आपको वर वधु का जन्म, नाम, जन्म दिनांक, स्थान एवं समय की जानकारी ज्ञात होना आवश्यक है इसी के आधार पर दोनों की कुंडलियों की तुलना की जाती है।

यह भी पढ़ें >  खाद्य सुरक्षा योजना में नाम देखना जानें - Rajasthan Ration Card List @ Food Raj Portal

Leave a Comment