PM Kusum Yojana 2022- ये हैं शर्तें, Online Registration फॉर्म ऐसे भरें, जल्द करें Apply

सरकार द्वारा कुसुम सोलर पंप वितरण योजना की शुरुआत कर दी गई है। जिसके अंतर्गत किसान वर्ग के लोगों को सरकार के द्वारा सूरज की गर्मी से चलने वाले सौर ऊर्जा पम्प वितरित किए जाएंगे। इच्छुक किसान कुसुम योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर PM Kusum Yojana Online Apply कर Registration करा सकते हैं।

प्रधानमंत्री कुसुम सोलर पंप योजना, धोखाधड़ी से सावधान होकर करें Registration

सरकार द्वारा PM Solar Pump Scheme की शुरुआत किसानों के लिए ही की गई है। इसके अंतर्गत किसानों के पास सिंचाई करने के लिए जो डीजल से चलने वाली मशीने है उसे सौर ऊर्जा से चलने वाली मशीनों में परिवर्तित किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत किसानों को सौर ऊर्जा संयंत्र यानी सोलर पैनल देने की व्यवस्था की गई है। इस योजना को सोलर सब्सिडी स्कीम भी कहा जाता है। प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2022 को लाने के पीछे सरकार का बड़ा उद्देश्य यही है कि देश में 3 करोड़ डीजल से चलने वाले पंपो को सौर ऊर्जा से चलाना। जिससे डीजल और बिजली की खपत कम हो। एवं सौर ऊर्जा का प्रयोग कर ऊर्जा के स्रोत की सुरक्षा को बढ़ावा दिया जा सके।

PM Kusum Solar Yojana 2022 से संबंधित महत्वपूर्ण बातें:

  • Kusum Solar Subsidy Scheme के पहले चरण में सरकार डीजल से चल रहे सिंचाई पंपों को सौर ऊर्जा से चलने वाले पंपो में परिवर्तित करेगी।
  • प्रधानमंत्री कुसुम सोलर सब्सिडी स्कीम के अंतर्गत किसानों को दोगुना लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • कुसुम योजना के अंतर्गत किसान बिजली का उपयोग सिंचाई में कर बची हुई बिजली को ग्रीड को बेचकर उससे भी अतिरिक्त कमाई कर पाएंगे।
  • पीएम कुसुम योजना से 28000 मेगावाट अतिरिक्त बिजली का उत्पादन किया जाएगा।
  • कुसुम सोलर पंप वितरण योजना के लिए सरकार के द्वारा 50000 करोड रुपए का आवंटन किया गया है।
  • कुसुम योजना एक लंबी अवधि तक चलने वाली सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं में से एक है।
  • इस योजना की जितनी भी लागत होगी किसानों को मात्र उसकी 10% रकम ही देनी होगी।
  • PradhanMantri Kusum Solar Pump Scheme मे आने वाले खर्च में केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार दोनों का बराबर का हिस्सा रहेगा।
यह भी पढ़ें >  कैसे करें Cowin Registration for 12 Years Above

Solar Subsidy Scheme Online Registration 2022 के लिए आवश्यक दस्तावेज:

  • आधार कार्ड
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • जमीन के दस्तावेज
  • मोबाइल नंबर
  • एड्रेस प्रूफ
  • पासपोर्ट साइज फोटो

पीएम सोलर पंप योजना का उद्देश्य:

भारत में कई राज्य ऐसे हैं जहां सूखा पड़ता है तथा वहां खेती करने वाले किसानों को सूखे से नुकसान उठाना पड़ता है। इस बात पर ध्यान देते हुए केंद्र सरकार ने PMKY 2022 को शुरू किया है इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश के किसानों को मुफ्त में बिजली उत्पन्न कराना। इस योजना के तहत किसानों को सिंचाई के लिए सोलर पैनल्स की सुविधा उपलब्ध कराना। जिससे वे अपने खेतों की अच्छी तरह से सिंचाई कर सकें। इस योजना के जरिए किसानों को दोहरा फायदा होगा तथा उनके आमदनी में भी वृद्धि होगी। एवं यदि किसान बिजली बचाकर उसे ग्रीड को भेजते हैं तो उन्हें उसकी भी कीमत प्राप्त होगी।

कुसुम योजना के लाभार्थी:

  • किसान
  • किसानों का समूह
  • सहकारी समिति 
  • पंचायत 
  • किसान उत्पादक संगठन
  • जल उपभोक्ता एसोसिएशन

PM Kusum Yojana Online Registration Form भरने की प्रक्रिया:

  • कई PM Kusum Yojana फर्जी वेबसाइट और मोबाइल एप्लीकेशन आवेदकों से प्रधानमंत्री कुसुम योजना के नाम पर किसानों से सोलर पंप लगाने हेतु ऑनलाइन आवेदन पत्र भरने के साथ पंजीकरण शुल्क तथा पंप की कीमत का ऑनलाइन भुगतान करने को कह रहे हैं। 
  • पीएम कुसुम सोलर पंप वितरण योजना के लिए आवेदन करने वाले सभी किसानों को सलाह दी जाती है कि वे धोखाधड़ी करने वाली वेबसाइटों पर ना जाए तथा कोई भी भुगतान ना करें।
  • प्रधानमंत्री सोलर सब्सिडी योजना को राज्य सरकार के विभागों द्वारा कार्यन्वित  किया जा रहा है।
  • आप अपने राज्य अनुसार उसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर PM Kisan Kusum Yojana के लिए Online Apply कर सकते हैं।
यह भी पढ़ें >  UPPBPB UP Police Constable Bharti 2022 : यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती के ऑनलाइन आवेदन Update

सामान्यतः पूछे जाने वाले प्रश्न:

1) पीएम कुसुम सोलर पंप योजना क्या है?

उ- इस योजना के अंतर्गत किसान के पास उपलब्ध डीजल से चलने वाले सिंचाई यंत्रों को सौर ऊर्जा से चलने वाले यंत्रों में परिवर्तित किया जाएगा।

2) पीएम सोलर सब्सिडी योजना के आवश्यक दस्तावेज कौन-कौन से हैं?

उ- आधार कार्ड, बैंक अकाउंट पासबुक, जमीन के दस्तावेज, मोबाइल नंबर, ऐड्रेस प्रूफ, पासपोर्ट साइज फोटो।

3) कुसुम सोलर योजना के लाभार्थी कौन-कौन हो सकते हैं?

उ- किसान, किसानों के समूह, सहकारी समितियां, पंचायत, किसान उत्पादक संगठन, जल उपभोक्ता एसोसिएशन।

Leave a Comment