Home news सप्ताह में 3 दिन छुट्टी और 4 दिन काम…जानिए क्यों और कहां हो रही है इसकी शुरुआत | Japan Propose for days working in office know the all details

सप्ताह में 3 दिन छुट्टी और 4 दिन काम…जानिए क्यों और कहां हो रही है इसकी शुरुआत | Japan Propose for days working in office know the all details

by Vertika


सरकार को इससे ज्यादा फायदा दिखता है. हर हफ्ते एक अतिरिक्त छुट्टी मिलने से लोग अधिक बाहर निकलेंगे और खर्च करेंगे. इससे देश की अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलेगी.

1/5

जापान में अब वर्किंग डे सिर्फ चार दिन का होगा. जापान की सरकार ने अपनी वार्षिक आर्थिक नीति में इसके लिए दिशा-निर्देश पेश किए हैं. इसमें कंपनियों को निर्देश दिया गया है कि वो अपने कर्माचारियों को सप्ताह में पांच की जगह चार दिन काम करने के अनुमति दें. इसके तहत कर्मचारियों के दफ्तर में बिताए जाने वाले समय को कम किया जा रहा है. सरकार का मकसद है कि इससे काम और लाइफस्टाइल में संतुलन बेहतर बनेगा.

2/5

कार्यालय

कोरोना वायरस महामारी के दौरान जापान की कंपनियों में काम करने के तरीकों में बड़ा बदलाव देखने को मिला है. सरकार कंपनियों को इस बात पर सहमत कराने की कोशिश में जुटी हैं कि कम वर्किंग घंटे और रिमोट वर्किंग जैसे कदम को कोरोना महामारी के बाद भी जारी रखना चाहिए.

3/5

कार्यालय

सरकार ने अपने इस कदम को लेकर कहा है कि चार दिन वर्किंग होने की वजह से कंपनियां अपने उन कर्मचारियों को अपने साथ जोड़े रख पाएंगी, जिन्हें बच्चों की परवरिश या वृद्ध लोगों की देखभाल के लिए नौकरी छोड़नी पड़ती है.

4/5

कार्यालय

सरकार को इससे ज्यादा फायदा दिखता है. हर हफ्ते एक अतिरिक्त छुट्टी मिलने से लोग अधिक बाहर निकलेंगे और खर्च करेंगे. इससे देश की अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलेगी. उम्मीद की जा रही है कि युवा लोगों के पास इससे आपस में मिलने, शादी और बच्चे पैदा करने के लिए अधिक समय मिलेगा. जापान में कम होती जन्म दर, बढ़ती ज्यादा उम्र के लोगों की संख्या और घटती आबादी जैसी समस्याओं को इससे दूर करने में मदद मिलेगी.

5/5

कार्यालय

जापान में प्रशासन ने संकट में फंसी देश की अर्थव्यवस्था को फिर से दौड़ाने के लिए कई तरीके अपनाए हैं. इसलिए जापान सरकार की पूरी कोशिश है कि लोगों के लाइफस्टाइल में सुधार लाया जाए और इसके लिए काम के तरीके को बदलना अगला अहम कदम बताया जा रहा है.

You may also like

Leave a Comment