जानें प्रधानमंत्री ज्ञानवीर योजना का सच  – क्या सच में मिलेंगे रुपये 3400

इन दिनों सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक मैसेज काफी तेजी से वायरल हो रहा है। इसके तहत प्रधानमंत्री ज्ञानवीर योजना के अंतर्गत युवाओं को हर महीने ₹3400 प्रदान करने की बात बताई जा रही है।

जानें Pradhanmantri Gyanveer Yojana का सच

वायरल हो रहे मैसेज में लिखा है कि सरकार का बड़ा फैसला सभी युवाओं को मिलेंगे ₹3400 हर महीने। व्हाट्सएप, टि्वटर, फेसबुक जैसे सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म आज सिर्फ सोशल प्लेटफॉर्म नहीं बल्कि मौजूदा समय में संचार के सबसे तेज साधन बन चुके हैं। जहां एक तरफ इसके कई फायदे है वहीं दूसरी ओर इसके कई नुकसान भी हैं। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि एक समय में ज्यादा से ज्यादा लोगों तक कोई मैसेज पहुंचाने के लिए सोशल मीडिया एक बहुत ही तेज और महत्वपूर्ण साधन है, लिहाजा कई बार सोशल मीडिया के जरिए ही लोगों तक गलत मैसेज भी पहुंचा दिए जाते हैं। इन दिनों सोशल मीडिया के जरिए ठगी के मामलों में काफी तेजी आ रही है। हम सभी को सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते समय काफी सतर्क रहना चाहिए।

क्या सच में मिलेंगे रुपये 3400

  • केंद्र सरकार की ओर से कई सरकारी स्कीम चलाई जा रही है जिसके तहत आर्थिक सहायता दी जाती हैं। सरकार किसानों, गरीबों, महिलाओं, बेटियों एवं युवाओं को आर्थिक सहायता देती है।
  • हाल ही में सोशल मीडिया पर एक पोस्ट वायरल हो रही है जिसमें दावा किया जा रहा है कि पीएम ज्ञानवीर योजना के अंतर्गत हर महीने 3400रुपये दिए जाएंगे।
  • इस मैसेज के सच्चाई के बारे में पता लगाने के लिए पीआईबी ने फैक्ट चेक किया है।
  • पीआईबी (Press Information Bureau) ने अपनी ऑफिशियल ट्विट पर भी इस बारे में जानकारी दी है कि यह मैसेज पूरी तरह फेक है।
  • इस तरह की किसी भी वेबसाइट पर अपनी निजी जानकारी साझा ना करें।
  • ऐसे संदेशों को फॉरवर्ड करने के पहले फैक्ट चेक जरूर कर लें।
यह भी पढ़ें >  PM Kisan Yojana 2022 - अगर यह Document नहीं दिया तो नहीं मिल पायेगी 2000 की किश्त

क्या है झूठी खबर फैलाने का मकसद

हमारे देश में युवाओं के सबसे अधिक जनसंख्या होने के कारण उन्हें भी जालसाजी, ठगी और धोखाधड़ी का एक निशाना समय-समय पर बनाया जाता है। आपराधिक गतिविधियों में संलग्न रहने वाले अपराधी प्रवृत्ति के लोग अपना उद्देश्य पूरा करने के लिए एवं अधिक कमाई करने के लिए इस प्रकार की झूठी खबरें फैलाते रहते हैं। डिजिटल इंडिया अभियान की आधिकारिक में असामाजिक तत्व भी डिजिटल माध्यमों का दुरुपयोग करके नए नए तरह के अपराध करते रहते हैं एवं जरूरतमंद युवाओं को अपना शिकार बनाते हैं। केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर युवाओं के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाएं शुरू की जाती हैं जिससे कि युवाओं को रोजगार एवं शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ने के अवसर प्रदान किए जा सके। परंतु आज के युवाओं को भी पूरी सतर्कता के साथ प्रत्येक खबर की प्रमाणिकता को चेक करना चाहिए एवं सरकार द्वारा निर्धारित की गई आधिकारिक वेबसाइट और जरूरत पड़े तो सरकारी कार्यालयों में जाकर सोशल मीडिया के माध्यम से फैलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की संपूर्ण एवं सटीक जानकारी प्राप्त करना चाहिए जिससे कि वह किसी प्रकार की धोखाधड़ी का शिकार ना बने।

क्यों चुना ज्ञानवीर योजना नाम

वर्तमान समय में पिछले माह ही केंद्र सरकार द्वारा अग्निवीर योजना की घोषणा की गई थी और हो सकता है कि धोखाधड़ी करने वाले लोगों ने इस योजना से मिलता जुलता नाम सोच कर ज्ञानवीर योजना का नाम निर्धारित किया हो। जिससे कि युवा भ्रमित हो एवं इस योजना को सत्य मानकर उनके द्वारा चलाए जा रहे फेक ज्ञानवीर योजना के जाल में फंस कर आवेदन करने हेतु राशि Fake PM Gyanveer Yojana पोर्टल के माध्यम से जमा करवा दें। 

यह भी पढ़ें >  CG Kisan Nyay Yojana - ऐसे चेक करें चौथी किश्त के पैसे

फेक योजनाओं के तहत युवाओं से धोखा

आज हमारे देश के विभिन्न प्रकार के सरकारी योजनाओं का नाम सुनते ही रोजगार प्राप्त करने के उद्देश्य एवं आशा से अनेक परीक्षाओं हेतु ऑनलाइन आवेदन जमा करवाते हैं जिससे कि वे अधिक से अधिक परीक्षाओं में बैठ सकें एवं किसी ना किसी परीक्षा में चयनित होकर एक अच्छे रोजगार को प्राप्त कर सकें यही कारण है की धोखाधड़ी करने वाले संगठनों को भी ऑनलाइन परीक्षाओं एवं योजनाओं के माध्यम से युवाओं को ठगने का यह तरीका सरल और कार का नजर आता है। आज के इस डिजिटल युग में जहां अमूमन प्रत्येक व्यक्ति इंटरनेट का उपयोग करता है एवं कंप्यूटर लैपटॉप, टेबलेट या मोबाइल के माध्यम से आसानी से इंटरनेट के माध्यम से कई प्रकार की गतिविधियों में संलग्न रहता है तो अब सामाजिक एवं असंवैधानिक तरीकों से पैसा कमाने के लिए हमारे ही बीच बैठे कुछ लोग इंटरनेट का ही उपयोग करके साधारण व सामान्य जनता को अपने लूट का शिकार बनाते रहते हैं एवं कई घटनाओं में तो जनता को समय रहते यह मालूम भी नहीं पड़ता कि उनके साथ किस प्रकार से और कितनी बड़ी धोखाधड़ी व अन्य घटना हो चुकी है। 

हमारे देश में सबसे अधिक युवा ही सोशल मीडिया का उपयोग करते हैं और यही कारण हैं कि उन्हें विभिन्न  फेक योजनाओं के माध्यम से धोखाधड़ी का शिकार बनाया जाता है। 

सामान्यता पूछे जाने वाले प्रश्न:

2- क्या ज्ञानवीर योजना केंद्र सरकार की योजना है?

3-ज्ञानवीर योजना के तहत कितने रुपयों के मिलने का दावा किया जा रहा है?

उ- इस योजना के तहत युवाओं को ₹3400 मिलने का झूठा दावा किया जा रहा है।

Leave a Comment