Friday, October 15, 2021
Home > news > आपके सैलरी अकाउंट पर मिलता है लाखों रुपये का फायदा, जानिए इसमें और क्‍या सुविधाएं मिलती हैं | Salary account benefits Free ATM and online transaction cheque book No minimum balance and many more benefits
news

आपके सैलरी अकाउंट पर मिलता है लाखों रुपये का फायदा, जानिए इसमें और क्‍या सुविधाएं मिलती हैं | Salary account benefits Free ATM and online transaction cheque book No minimum balance and many more benefits

Salary Account

[ad_1]

Benefits of Salary account: नौकरीपेशा लोगों के सैलरी अकाउंट पर कई तरह की सुविधाएं बिल्‍कुल फ्री में मिलती है. इसमें लाखों रुपये के इंश्‍योरेंस, ओवरड्राफ्ट की सुविधा समेत फ्री मल्‍टीसिटी चेक की भी सुविधा है.

सांकेतिक तस्‍वीर

नौकरीपेशा वाले अधिकतर लोगों के पास सैलरी अकाउंट है. ऐसे लोगों की सैलरी सीधे उनके सैलरी अकाउंट में ही आती है. सैलरी अकाउंट जीरो बैलेंस होता है. इसके अलावा भी सैलरी अकाउंट में और भी कई तरह के फायदे मिलते हैं, जिसके बारे में बहुत ही कम लोगों को पता होता है. सैलरी अकाउंट में स्‍पेशल लोन ऑफर से लेकर फ्री एटीएम ट्रांजैक्‍शन, अनलिमिटेड ऑनलाइन ट्रांजैक्‍शन आदि की सुविधा मिलती है. बहुत कम लोगों को इस बारे में पता होता है. आज हम आपको इसी बारे में जानकारी दे रहे हैं.

न्‍यूनतम बैलेंस की अनिवार्यता नहीं

सैलरी अकाउंट के लिा औसत न्‍यूनतम बैलेंस रखने की अनिवार्यता नहीं होती है. अगर आपके पास सैलरी अकाउंट है तो इस बात की चिंता करने की जरूरत नहीं है कि आपके अकाउंट में तय बैलेंस नहीं है. इसपर आपको पेनाल्‍टी के तौर पर कोई चार्ज भी नहीं देना होता है.

जीरो बैलेंस की सुविधा

सैलरी अकाउंट को जीरो-बैलेंस अकाउंट भी कहते हैं. इसीलिए सैलरी अकाउंट को मेंटेन करने की झंझट नहीं होती है. यह सुविधा केवल सैलरी अकाउंट में ही मिलती है. हालांकि, प्रधानमंत्री जन-धन अकाउंट में भी अगर जीरो बैलेंस है तो चार्ज नहीं देना होता है.

ओवरड्राफ्ट सुविधा
सैलरी अकाउंट पर ओवरड्राफ्ट की भी सुविधा मिलती है. 2 साल या इससे ज्‍यादा अवधि वाले सैलरी अकाउंट पर ओवरड्राफ्ट की सुविधा मिलती है. ओवरड्राफ्ट रकम की लिमिट दो महीने के बेसिक सैलरी जितनी होती है. ओवरड्राफ्ट की सुविधा के तहत अगर आपके बैंक आकउंट में कोई बैलेंस नहीं है, तो भी आप एक तय लिमिट तक पैसे निकाल सकते हैं.

फ्री एटीम की सुविधा

सैलरी अकाउंट पर प्राइवेट और पब्लिक सेक्‍टर के कई बैंक फ्री एटीएम ट्रांजैक्‍शन की सुविधा देते हैं. इसमें एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक आदि हैं. इस सुविधा के तहत आपको टेंशन नहीं लेनी होगी कि महीने में कितने बार एटीएम से लेनदेन करना है. इसके अलावा एटीएम सुविधा के लिए सैलरी अकाउंट पर सालाना चार्ज भी नहीं वसूला जाता है.

लोन की सुविधा

सैलरी अकाउंट पर पर्सनल लोन्‍स से संबंधित स्‍पेशल ऑफर्स भी म‍िलता है. सैलरी अकाउंट पर प्री-अप्रुव्‍ड लोन की भी सुविधा मिलती है. होम और कार लोन के लिए स्‍पेशल ऑफर मिलता है. सामान्‍य सेविंग्‍स अकाउंट की तुलना में सैलरी अकांउट से लोन लेने पर कम ब्‍याज की भी सुविधा मिलती है.

फ्री पासबुक और चेकबुक की सुविधा

कई बैंक अपने सैलरी अकाउंट होल्‍डर्स को फ्री में चेकबुक, पासबुक और ई-स्‍टेटमेंट की सुविधा देते हैं. इसके अलावा सैलरी क्रेडिट होने का एसएमएस अलर्ट के लिए भी कोई चार्ज नहीं देना होता हे.

फ्री इंश्‍योरेंस की सुविधा

सैलरी अकाउंट होल्‍डर्स को मृत्‍यु होने पर 20 लाख रुपये तक का पर्सनल एक्‍सीडेंट इंश्‍योरेंस मिलता है. यह सुविधा लगभग हर बैंक में सैलरी अकाउंट पर मिलता है. इसके अलावा एसबीआई अपने प्रीमियम सैलरी अकाउंट पर 30 लाख रुपये का एयर एक्‍सीडेंट इंश्‍योरेंस कवर की भी सुविधा मिलती है.

ऑनलाइन ट्रांजैक्‍शन

कुछ सरकारी और प्राइवेट बैंक अपने ग्राहकों को सैलरी अकाउंट पर फ्री ऑनलाइन ट्रांजैक्‍शन की सुविधा देते हैं. वर्तमान में IMPS और स्‍टैंडिंग इंस्‍ट्रक्‍शन पर चार्ज देना होता है. लेकिन NEFT और RTGS की सुविधा फ्री होती है. कुछ बैंक प्रीमियम सैलरी अकाउंट पर फ्री IMPS ट्रांजैक्‍शन की भी सुविधा देते हैं.

एसबीआई, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और एक्सिस बैंक सैलरी अकाउंट पर और भी कई सुविधाएं देते हैं. इनमें ज्‍वाइंट अकाउंट होल्‍डर्स के लिए फ्री एटीएम कार्ड, मुफ्त में मल्‍टी सिटी चेक, लॉकर चार्ज पर 25 फीसदी की छूट, फ्री ड‍िमैट अकाउंट और फ्री एयरपोर्ट लाउंज एक्‍ससे की भी सुविधा मिलती है.

यह भी पढ़ें: अब DL बनवाने के लिए RTO में ड्राइविंग टेस्‍ट देने की जरूरत नहीं, आज से बदल गया नियम

[ad_2]

Vertika
http://views24hours.com
Vertika is the lead writer on views24hours.com. With experience from top news agencies, she knows all about writing and explaining the stuff to readers. Keep reading

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *