Thursday, October 14, 2021
Home > news > आखिर क्यों गिर रहा है क्रिप्टोकरेंसी का कारोबार, क्या जानते हैं भारत में रोजाना कितना का है इसका बिजनेस | Why is the business of cryptocurrency falling do you know how much is its business in India every day
news

आखिर क्यों गिर रहा है क्रिप्टोकरेंसी का कारोबार, क्या जानते हैं भारत में रोजाना कितना का है इसका बिजनेस | Why is the business of cryptocurrency falling do you know how much is its business in India every day

Cryptocurrency1 2

[ad_1]

बिटकॉइन या दूसरी क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर दुनियाभर के देश एक अजीब से असमंजस की स्थिति में हैं. कई देशों ने तो अपने यहां क्रिप्‍टोकरेंसी पर पूरी तरह से बैन कर दिया है.

सांकेतिक तस्‍वीर

बिटकॉइन, एथेरियम और अन्य प्रमुख क्रिप्टोकरेंसी वर्तमान में मिला जुला करोबार कर रहे हैं. वैश्विक क्रिप्टो मार्केट कैप 1.37 ट्रिलियन डॉलर है. जो हाल के दिनों की तुलना में कम है. रॉयटर्स के मुताबिक, क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज बिनेंस ने 30 जून को कहा कि उसके प्लेटफॉर्म से स्टर्लिंग निकासी को फिर से सक्रिय कर दिया गया है. ग्राहक अब डेबिट और क्रेडिट कार्ड के साथ डिजिटल क्वॉइन भी खरीद सकते हैं.

स्‍टेबल कॉइन्‍स के वॉल्‍युम की बात करें तो यह 61.71 अरब डॉलर पर पहुंच गया है. पिछले 24 घंटे में कुल क्रिप्‍टो मार्केट में स्‍टेबल कॉइन्‍स की हिस्‍सेदारी 74.32 फीसदी है.

एलन मस्क के ट्वीट से गिरा था बिटक्वॉइन

बीते 24 घंटे में क्रिप्‍टो मार्केट वॉल्‍युम 83.03 अरब डॉलर रहा है. पिछले दिन के मुकाबले इसमें 6.07 फीसदी की गिरावट आई है. पिछले महीने जब बिटक्वॉइन समेत दुनिया की शीर्ष 30 क्रिप्टो करेंसी में गिरावट आई थी, तो चीन में इसके लेकर हुई सख्ती को वजह बताया गया था.

बिटक्वॉइन की कीमतों में आई गिरावट की एक वजह टेस्ला के चीफ एग्जिक्यूटिव अफसर एलन मस्क का ट्वीट को भी बताया गया. वहीं, बिटक्वॉइन को लेकर चीन सख्ती अभी भी जारी है.

कई देशों ने बैन किया क्रिप्टो का कारोबार

बिटकॉइन या दूसरी क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर दुनियाभर के देश एक अजीब से असमंजस की स्थिति में हैं. कई देशों ने तो अपने यहां क्रिप्‍टोकरेंसी पर पूरी तरह से बैन कर दिया है. इसमें ईरान और सऊदी अरब शामिल है. वहीं, भारत, रूस, ब्राजील समेत कई ऐसे देश हैं, जो अभी भी डिजिटल एसेट को लेकर विचार की ही स्थिति में हैं. इनकी तरफ से अभी तक कोई बड़ा कदम नहीं उठाया गया है.

क्रिप्टोकरेंसी को लेकर चीन सख्त

चीन का रवैया हमेशा से क्रिप्टोकरेंसी को लेकर बहुत ही सख्त रहा है. 2013 में चीन के केंद्रीय बैंक ने वित्त संस्थाओं को बिटक्वॉइन से जुड़े ट्रांजेक्शन को रोक दिया था. चीन में क्रिप्टोकरेंसी की माइनिंग बंद होने का बड़ा असर इसकी कीमतों पर पड़ा. क्रिप्टोकरेंसी की माइनिंग में चीन की 70 फीसदी तक की हिस्सेदारी है. न्यूज एजेंसी रायटर्स के मुताबिक, कुछ माइनर्स चीन से अपना करोबार कजाकिस्तान जैसे देशों में शिफ्ट कर रहे हैं.

भारत में है बड़ा कारोबार

पिछले कुछ वर्षों में क्रिप्टो का कारोबार भारत में भी बढ़ा है. देश में कुल 15 क्रिप्टो एक्सचेंज बिजनेस कर रहे हैं. बताया जाता है कि इनका रोजाना का कारोबार करीब 1500 करोड़ रुपये का है. भारत में इस समय करीब एक करोड़ एक्टिव इन्वेस्टर हैं, जो इसमें ट्रेडिंग कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- अब कूलर में घास लगाने का जमाना गया, अब लगाइए ये नए तरह का ‘कागज’, AC जैसी देगा हवा

[ad_2]

Vertika
http://views24hours.com
Vertika is the lead writer on views24hours.com. With experience from top news agencies, she knows all about writing and explaining the stuff to readers. Keep reading

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *