Home news कोविड में जिन रेलकर्मियों की गई जान, उनके परिजनों को अनुकंपा पर आसानी से मिलेगी नौकरी, ECR की नई GM ने दिलाया भरोसा | Railway workers who lost their lives in Covid, their families to get compassionate jobs easily, East Central Railway GM assured

कोविड में जिन रेलकर्मियों की गई जान, उनके परिजनों को अनुकंपा पर आसानी से मिलेगी नौकरी, ECR की नई GM ने दिलाया भरोसा | Railway workers who lost their lives in Covid, their families to get compassionate jobs easily, East Central Railway GM assured

by Vertika


East Central Railway New GM: पूर्व मध्य रेलवे की नई महाप्रबंधक अंजलि गोयल ने आश्वस्त किया है कि मृत रेलकर्मियों के परिजनों को नौकरी दिए जाने में आसान प्रक्रिया रखी जाएगी.

पूर्व मध्य रेल की नई महाप्रबंधक अंजलि गोयल ने हाजीपुर मुख्यालय में विभागाध्यक्षों के साथ उच्चस्तरीय बैठक की

कोरोना के कारण देश के सैकड़ों फ्रंटलाइन वर्कर्स ने अपनी जान गंवाई है. इन फ्रंटलाइन वर्कर्स में रेलवे के कर्मी भी शामिल हैं, जिनकी महामारी काल में सेवा करते हुए मौत हुई है. रेलवे के नियमों के मुताबिक, मृत रेलकर्मियों के आश्रित जन को अनुकंपा पर नियुक्ति प्रदान की जाती है. सेटलमेंट और अनुकंपा नियुक्ति की प्रक्रिया कल्याण अनुभाग द्वारा की जाती है, जिसमें कई बार लंबा वक्त लग जाता है. लेकिन अब इसमें सुधार की उम्मीद है.

पूर्व मध्य रेलवे की नई महाप्रबंधक अंजलि गोयल ने प्राथमिकता के आधार पर अनुकंपा वाली नियुक्तियां करने का निर्देश दिया है. सोमवार को नई जीएम ने हाजीपुर मुख्यालय में विभागाध्यक्षों के साथ उच्चस्तरीय बैठक में यह बात कही है. उन्होंने आश्वस्त किया है कि मृत रेलकर्मियों के परिजनों को नौकरी दिए जाने में आसान प्रक्रिया रखी जाएगी.

जीएम अंजलि गोयल ने कहा कि कर्मचारी कल्याण हमारी सर्वोच्च प्राथमिकताओं में एक है. उन्होंने कर्मचारी यूनियन के साथ कर्मचारी कल्याण से जुड़े विभिन्न विषयों पर चर्चा की. हाल के दिनों में वैश्विक महामारी कोविड-19 संक्रमण से मृत रेलकर्मियों के परिजनों को तत्काल राहत पहुंचाने के लिए उन्होंने प्राथमिकता के तौर पर जल्द से जल्द अनुकंपा के आधार पर नौकरी देने का निर्देश दिया. उच्चाधिकारियों ने उनके निर्देशों के पालन के प्रति आश्वस्त किया है.

जीएम ने कहा कि कर्मचारी यूनियन, रेल प्रबंधन और रेलकर्मियों के बीच एक मजबूत सेतु का कार्य करते हैं और रेलकर्मियों की समस्याओं से रेल प्रबंधन को अवगत कराते हैं जिससे उसके निराकरण में हमें मदद मिलती है. उन्होंने कर्मचारी यूनियनों से अपील की कि वे रेलकर्मियों को कोरोना से बचाव हेतु वैक्सीनेशन के लिए प्रोत्साहित करें ताकि हम कोविड वैक्सीनेशन की दिशा में शत-प्रतिशत लक्ष्य को जल्द से जल्द प्राप्त कर सकें.

श्रमिक यूनियन समय-समय पर उठाते रहे हैं मांग

रेलवे बोर्ड नियम के अनुसार मृतक रेल कर्मचारी के आश्रित जन को अनुकंपा नियुक्ति प्रदान की जाती है. कल्याण अनुभाग द्वारा सेटलमेंट और अनुकंपा नियुक्ति प्रक्रिया की जाती है. इस संबंध में रेलवे श्रमिक यूनियन की ओर से समय-समय पर मांग उठाए जाते रहे हैं. यूनियन के मुताबिक, अनुकंपा पर नियुक्ति की प्रक्रिया काफी जटिल है और इसमें आवेदकों से अत्यधिक दस्तावेज मांगे जाते हैं. यदि प्रक्रिया आसान कर दी जाती है तो बेवजह की परेशानी नहीं होगी. यूनियन का कहना है कि अनुकंपा नियुक्ति और सेटलमेंट की प्रक्रिया सरल करते हुए विभागीय प्रक्रिया का निपटारा एक माह की अवधि में पूरी होनी चाहिए।

4 दिन में नौकरी देकर रचा था इतिहास

करीब ढाई साल पहले मुगलसराय मंडल ने रेलकर्मी की मौत के महज 4 दिन के अंदर अनुकंपा पर नौकरी देकर रिकॉर्ड बना डाला था. इससे पीड़ित परिवार को काफी राहत मिली थी. दरअसल, 14 जनवरी 2019 को पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन यार्ड में कार्य के दौरान ट्रैक मेंटेनर दशरथ की मौत हो गई थी. काम के दौरान वह मेमू ट्रेन की चपेट में आ गए थे. इस मामले में तत्कालीन मंडल रेल प्रबंधक पंकज सक्सेना ने 18 जनवरी 2019 को मृतक की पत्नी को हर तरह के सेटेलमेंट का भुगतान कराया था. इसके साथ ही मृतक के पुत्र अजय यादव को नौकरी का नियुक्ति पत्र सौंप दिया था.

माल ढुलाई और पैसेंजर ट्रेनों से आय पर भी चर्चा

इस उच्चस्तरीय बैठक में माल लदान, यात्री सुविधा, संरक्षा, कर्मचारी कल्याण एवं निर्माण परियोजनाओं आदि विषयों पर चर्चा की गई. जीएम ने कहा कि एक टीम की तरह कार्य करते हुए माल लदान और यात्री यातायात से होने वाली आय के क्षेत्र में एक नया मुकाम हासिल करना हमारा लक्ष्य है. उन्होंने माल ढुलाई में वृद्धि हेतु बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट को नये माल ग्राहकों को रेल से जोड़ने के लिए विशेष प्रयास करने पर बल दिया.

जीएम ने पूर्व मध्य रेल में चल रही निर्माण परियोजनाओं की क्लोज मॉनिटरिंग करते हुए उसे निर्धारित समय-सीमा के भीतर पूरा करने का निर्देश दिया. संरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए उन्होंने कहा कि संरक्षा के साथ किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जाना चाहिए.

यह भी पढ़ें: Indian Railways ने दी खुशखबरी: ताज एक्सप्रेस और गरीब रथ समेत 64 ट्रेन सेवाएं बहाल की, यहां देखें पूरी लिस्ट

You may also like

Leave a Comment