Friday, September 24, 2021
Home > news > हमारे-आपके पैसे से इस साल इन 38 कंपनियों ने कमाए 71,800 करोड़! ये है इन कंपनियों की पूरी लिस्ट | 38 firms raised 71800 crore by the IPO this year and list of 25 upcoming IPO
news

हमारे-आपके पैसे से इस साल इन 38 कंपनियों ने कमाए 71,800 करोड़! ये है इन कंपनियों की पूरी लिस्ट | 38 firms raised 71800 crore by the IPO this year and list of 25 upcoming IPO

आपके पैसे से इस साल इन 38 कंपनियों ने कमाए

[ad_1]

इस साल अब तक 38 नई कंपनियां शेयर मार्केट में लिस्ट हो चुकी हैं. जबकि 25-30 और कंपनियां IPO लेकर आने वाली हैं, जिसमें LIC, पेटीएम और पॉलिसी बाजार जैसे बड़े नाम शामिल हैं.

सांकेतिक तस्‍वीर

इस साल शेयर मार्केट में 38 नई कंपनियों का डेब्यू हुआ. इन कंपनियों ने IPO यानी इनीशियल पब्लिक ऑफर के जरिए 71,833.37 करोड़ रुपए जुटाए हैं. जाहिर है ये रकम देखकर साफ लगता है कि लोग अब IPO में बढ़चढ़ कर निवेश कर रहे हैं. इसके अलावा अभी 25-30 और कंपनियां ऐसी हैं जो अपने IPO लेकर आने वाली हैं. इसमें LIC, पेटीएम और पॉलिसी बाजार जैसी बड़ी कंपनियों के नाम शामिल हैं.

दरअसल, मौजूदा समय में वैश्विक स्‍तर पर बाजार में लिक्विड‍िटी है, अर्थव्‍यवस्‍था में रिकवरी देखने को मिल रही है और कोविड संबंधी प्रतिबंधों के खत्‍म होने के बाद कमाई भी बढ़ी है. इसके अलावा केंद्र सरकार और भारतीय रिज़र्व बैंक ने भी प्रभावित सेक्‍टर्स के लिए कई कदम उठाएं है, जिससे निवेशकों का सेंटीमेंट बेहतर हुआ है. बेंचमार्क इंडेक्‍स बीएसई सेंसेक्‍स और निफ्टी 50 ने भी नये रिकॉर्ड को छुआ है. पिछले साल मार्च की तुलना में इसमें लगभग दोगुनी तेजी देखने को मिली है.

प्राइमरी मार्केट में हलचल

बजार जानकारों का कहना है कि इन आईपीओ का मामेंटम बहुत हद तक सेकेंडरी मार्केट पर भी निर्भर करेगा. माना जा रहा है पूरे साल बाजार में तेजी का दौर देखने को मिलेगा. हालांकि, बीचे में कुछ करेक्‍शन भी देखने को मिल सकता है. ऐसे में 2021 के दौरान कई सारे आईपीओ के आने की वजह से प्राइमरी मार्केट में बहुत हलचल देखने को मिलेगी. इस साल अभी भी 25-30 कंपनियों के आईपीओ आने वाले हैं. ये कंपनियां डिलीवरी, डिजिटल सर्विसेज, पेमेंट बैंक, एनलिटिक्‍स, ट्रेडिंग और सर्विस प्‍लेटफॉर्म्‍स की हैं. केमिकल कंपनियां भी इस मौके को भुनाने के मूड में हैं.

आईपीओ1

टूट सकता है 2017 का रिकॉर्ड

रोचक बात है कि बाजार में यह उत्‍साह एक ऐसे समय में देखने को मिल रहा है, जब कोरोना वायरस की वजह से कई तरह की अनिश्चितता की स्थिति बनी हुई है. एक बात यह भी है कि 2020 और 2021 के दौरान जो कंपनियां लिस्‍ट हुई हैं, उनमें से अधिकतर के शेयर भाव ऑफर प्राइस से अधिक है. जानकारों का अनुमान है कि इस साल आईपीओ से फंड जुटाने को लेकर 2017 का भी रिकॉर्ड टूट सकता है. 2017 में आईपीओ के जरिए कुल 75,000 करोड़ रुपये जुटाए गए थे.

आईपीओ2

कंपनियों के फंडामेंटल्‍स पर ध्‍यान देकर करें निवेश

माना जा रहा है कि आगे भी सरकार की उपायों और उम्‍मीद से बेहतर रिकवरी से मार्केट का कॉन्फिडेंटस बूस्‍ट होगा. अगर इस साल एलआईसी का आईपीओ आ जाता है तो कैलेंडर ईयर 2021 की दूसरी छमाही में आईपीओ के जरिए कुल 1 लाख करोड़ रुपये जुटाया जा सकता है. हालांकि, जानकारों की सलाह है कि निवेशकों को आईपीओ में पूंजी लगाने से पहले कंपनियों के फंडामेंटल्‍स पर खास ध्‍यान देनी चाहिए.

यह भी पढ़ें: क्या है इंफ्रास्ट्रक्चर एंड डेवलपमेंट बैंक, जिसकी कमान अब वित्त मंत्रालय को मिली, कैसे होगा इससे आम लोगों को फायदा

[ad_2]

Vertika
http://views24hours.com
Vertika is the lead writer on views24hours.com. With experience from top news agencies, she knows all about writing and explaining the stuff to readers. Keep reading

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *