Friday, September 24, 2021
Home > news > सुपरटेक की दो बिल्डिंग गिराई जाएंगी, जानिए उन खरीदारों का पैसा कैसे वापस आएगा जिन्होंने फ्लैट बुक किया था | Supreme Court orders demolition of twin towers by Supertech in Noida know how you will get refund
news

सुपरटेक की दो बिल्डिंग गिराई जाएंगी, जानिए उन खरीदारों का पैसा कैसे वापस आएगा जिन्होंने फ्लैट बुक किया था | Supreme Court orders demolition of twin towers by Supertech in Noida know how you will get refund

की दो बिल्डिंग गिराई जाएंगी जानिए उन खरीदारों का

[ad_1]

सुप्रीम कोर्ट ने बिल्डर पर ऐसी कार्रवाई की है जो दूसरों के लिए भी नजीर होगी. आसमान छूती बिल्डिंग जल्द ही गिराई जाएगी. किसी का पैसा फंसा हो तो पढ़ें क्या कर सकते हैं.

सुपरटेक की दो बिल्डिंग्स को गिराने का आदेश सुप्रीम कोर्ट ने दिया है.

अवैध कंस्ट्रक्शन के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट ने ऐसी कार्रवाई की है, जो बिल्डरों के होश ठिकाने ला सकती है. नोएडा में सुपरटेक बिल्डर की दो 40 मंजिला इमारते हैं. सुप्रीम कोर्ट ने कह दिया है कि दोनों टावर ढहा दिए जाएं, यानी तोड़कर जमीन में मिला दिए जाएं. दोनों इमारतें बन चुके थीं, सैकड़ों फ्लैट थे जो बुक हो चुके थे. लोगों का पूरा पैसा जा चुका था बस पजेशन बाकी था. अब वो पैसा कैसे मिलेगा ये पूरी खबर उसी बारे में है.

कौन सी बिल्डिंग टूटेंगी?

दोनों बिल्डिंग्स को ट्विन टावर्स बोला जाता है. दोनों इमारतें, सेक्टर 93 यानी एक्सप्रेसवे की तरफ हैं. इनका नाम है, एमरल्ड कोर्ट ट्विन टावर्स. सुपरटेक के एक अधिकारी के मुताबिक दोनों टावर्स में करीब 1000 फ्लैट हैं. 633 फ्लैट बुक हुए थे. इसमें से 133 लोग दूसरे प्रोजेक्ट में मूव कर गए. 248 ने पैसा वापस ले लिया, जबकि 252 लोगों का पैसा अभी भी फंसा हुआ है. उन्हें उम्मीद थी कि शायद एक दिन उनका पैसा वापस मिल जाए.

कार्रवाई क्यों करनी पड़ी?

इन ट्विन टावर्स को इसलिए तोड़ना पड़ा क्योंकि ये एक अवैध कंस्ट्रक्शन था. यह सुपरटेक बिल्डर और नोएडा अथॉरिटी की मिलीभगत से किया गया था. जिस जमीन पर टावर खड़ें है वो जगह खेलने-कूदने के लिए आरक्षित थी. जगह सुपरटेक की ही थी लेकिन उसने अवैध तरीके से पार्क वाली जगह पर ही दोनों टावर खड़े कर डाले. पहले ही इस मामले में यानी 2014 में हाईकोर्ट ने बिल्डिंग गिराने का आदेश दिया था. लेकिन इसके खिलाफ बिल्डर सुप्रीम कोर्ट गया पर आज सुप्रीम कोर्ट ने भी कह दिया कि ये पूरी बिल्डिगें अवैध हैं और इन्हें गिराया जाए. सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के ऑर्डर को बरकरार रखा है.

पैसा कैसे वापस मिलेगा?

जिस भी व्यक्ति का फ्लैट है उसे सुपरटेक बिल्डर के ऑफिस में संपर्क करना होगा. सुप्रीम कोर्ट ने ग्राहकों के अधिकारों को ख्याल रखा है और बिल्डर से कहा है कि सभी की पाई-पाई वापस करे. तो आप जाएं और जल्द से जल्द अपना पैसा वापस ले लें. जब हमने इस मामले में कुछ घर खरीदारों से बात की तो उन्होंने कहा कि शुरू से ही बिल्डर को लेकर संशय था. होम बायर्स एसोसिएशन ने तो यहां तक दावा किया कि टावरों का निर्माण करते समय बिल्डर ने ऑरिजिनल प्लान तक नहीं दिखाया था. इस वजह से काफी खरीदारों को नुकसान उठाना पड़ा.

सुपरटेक का पक्ष

इस मामले में TV9 डिजिटल ने सुपरटेक से बात की. उन्होंने कहा कि वह इस मामले में रिव्यू पिटिशन दाखिल करेंगे.

ये भी पढ़ें: फैमिली पेंशन का लाभ लेने के लिए EPF को देना होगा पुलिस सर्टिफिकेट, इस परिस्थिति में लागू होगा नियम

[ad_2]

Vertika
http://views24hours.com
Vertika is the lead writer on views24hours.com. With experience from top news agencies, she knows all about writing and explaining the stuff to readers. Keep reading

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *