Dev Diwali Shubh Muhurat 2022 – 7 या 8 नवंबर देव दीपावली कब है

देव दीपावली शुभ मुहूर्त 2022- सनातन धर्म में कार्तिक मास की पूर्णिमा का महत्वपूर्ण स्थान है। कार्तिक मास की पूर्णिमा के दिन हम देव दीपावली का पर्व बड़ी धूमधाम से मनाते हैं। ऐसी मान्यता है कि देव दीपावली के दिन श्रद्धालु पवित्र नदी जैसे श्रीगंगा, जमुना आदि में स्नान करते हैं।

इसी प्रकार देव दीपावली शुभ मुहूर्त 2022 के अनुसार सबसे अधिक वैभव वाराणसी को प्राप्त होता है। वाराणसी गंगा नदी के तट पर स्थित है। देव दीपावली शुभ मुहूर्त 2022, दीप का महत्व, देव दीपावली का शुभ मुहूर्त आदि के संबंध में आज हम यहां प्रसिद्ध ज्योतिष विशेषज्ञ द्वारा प्रस्तुत हैं। आपको आज यहां बहुत सारी जानकारी देखने को मिलेगी।

देव दीवाली 2022 मुहूर्त (देव दिवाली 2022 मुहूर्त)

  • कार्तिक पूर्णिमा तिथि प्रारंभ – 07 नवंबर 2022, शाम 04.15 बजे
  • कार्तिक पूर्णिमा तिथि समाप्त – 08 नवंबर 2022, शाम 04.31 बजे

देव दिवाली शुभ मुहूर्त 2022

उदाहरण के लिए ज्योतिष शास्त्र के आचार्यों और विद्वानों द्वारा जो जानकारी सामने आ रही है उसके अनुसार इस वर्ष देव दीपावली कई शुभ संकेत लेकर आएगी। उल्लेखनीय है कि देव दीपावली शुभ मुहूर्त 2022 के अनुसार ब्रह्म मुहूर्त सुबह पांच बजे से पांच बजकर 51 मिनट तक रहेगा, इसी तरह अभिजीत मुहूर्त 11 बजकर 39 मिनट से शुरू होकर 12 बजकर 45 मिनट तक चलेगा.

अगर अमृत काल की बात करें तो देव दिवाली शुभ मुहूर्त 2022 के तहत अमृत काल शाम 5:15 बजे से शुरू होकर शाम 6:54 बजे तक खत्म हो जाएगा, इसी तरह देव दिवाली शुभ मुहूर्त 2022 के अनुसार रवि योग और विजय मुहूर्त कर रहे हैं. के बारे में, यह क्रमशः 6:41 और 12:37 बजे शुरू होगा और क्रमशः 2:16 बजे और 3:01 बजे समाप्त होगा।

गुरु नानक जयंती

चंद्र ग्रहण 2022 तारीख और समय

कार्तिक पूर्णिमा 2022

नवंबर में स्कूल कॉलेज की छुट्टी

देव दिवाली 2022 तारीख अवलोकन

लेख का शीर्षक देव दिवाली शुभ मुहूर्त 2022
त्योहार देव दीपावली
उत्सव की तारीख 7 नवंबर 2022
उत्सव का समय लेख में दिया गया है
चंद्र ग्रहण तिथि और समय 8 नवंबर 2022, दोपहर 01:32 बजे से 07: 27 बजे तक
साल 2022
यह भी पढ़ें >  क्या है Samajwadi Pension Yojana और Online Apply कैसे करें

देव दिवाली 2022 कैसे मनाएं

देव दिवाली 2022 कैसे मनाएं इस पर बहुत सारे लोगों की टिप्पणियां हम आपको बता रहे हैं कि आप देव दिवाली 2022 कैसे मना सकते हैं।

  • वाराणसी शहर में देव दीपावली मनाने का अपना ही महत्व है।
  • देव दिवाली 2022 कैसे मनाएं के अनुसार इस पवित्र शहर में लाखों लोग आते हैं और गंगा नदी में स्नान करते हैं।
  • यहां आपको बता दें कि देव दीपावली मुख्य रूप से वाराणसी और गुजरात में मनाई जाती है।
  • वाराणसी और गुजरात के लोग अपने घर पर रंगोली बनाकर और घी या तेल के दीपक जलाकर देव दीपावली को बड़े उत्साह के साथ मनाते हैं।
  • कई लोग देव दीपावली के दिन अपने घरों में महामृत्युंजय मंत्र, सत्यनारायण व्रत कथा का जाप जैसे धार्मिक अनुष्ठान करते हैं।
देव दिवाली शुभ मुहूर्त
देव दिवाली शुभ मुहूर्त

देव दीपावली 2022 – देव दीपावली का महत्व

प्रसिद्ध विद्वानों के मत के अनुसार एक बात देखने में आ रही है कि कार्तिक पूर्णिमा के साथ-साथ देव दीपावली भी एक साथ मनाई जा रही है, इसलिए इस कारण देव दीपावली 2022 का महत्व बहुत बढ़ गया है, लेकिन यहां आपको बता दें कि देव दीपावली दूर-दूर तक कार्तिक पूर्णिमा से कोई लेना-देना नहीं है।

लेकिन इसे संयोग ही कहा जाएगा कि दोनों पर्व एक ही दिन पड़ रहे हैं। तो यहां भी हमने आपको देव दीपावली के शुभ मुहूर्त यानी देव दीपावली 2022 देव दीपावली का महत्व, योग और दीपदान से जुड़ी अहम बातें बताई हैं जिनका जिक्र हमने आपको ऊपर किया था.

देव दीपावली 2022 पूजा विधि

  • देव दीपावली के दिन आपको जल्दी उठकर गंगा नदी में स्नान करना चाहिए, ध्यान आदि करना चाहिए।
  • इसके बाद अपने मंदिर की अच्छी तरह से सफाई कर देव दीपावली 2022 पूजा विधि में सभी देवताओं का ध्यान करके पूजा शुरू करें।
  • और शाम के समय किसी पवित्र नदी जैसे गंगा, जमुना आदि के तट पर दीपक का दान करना चाहिए।
  • यदि आपके लिए गंगा-यमुना आदि किसी पवित्र नदी में जाना संभव न हो,
  • तो आप गंगा माता का ध्यान भी कर सकते हैं और मंदिर में दीपक दान कर सकते हैं।
  • इसके बाद आपको महामृत्युंजय मंत्र से भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए क्योंकि देव दीपावली 2022 पूजा विधि के अनुसार,
  • देव दीपावली के दिन भगवान शिव की पूजा का महत्व अलग है।
यह भी पढ़ें >  पशुपालन लोन  2022 - ऑनलाइन अप्लाई ऐसे करें, Online Form

2022 देव दीपावली तिथि और समय

देव दीपावली के दिन आपको गंगा यमुना नदी में स्नान करना चाहिए क्योंकि ऐसा माना जाता है कि गंगा नदी में स्नान करने से व्यक्ति के सभी पाप धुल जाते हैं और व्यक्ति को मोक्ष की प्राप्ति होती है, 2022 देव दीपावली तिथि और समय के अनुसार एक इस दिन भगवान सत्यनारायण की कथा करनी चाहिए और श्रद्धा के साथ कथा का आनंद लेना चाहिए।

इस बार देव दीपावली 7 नवंबर 2022 को मनाई जा रही है। देव दीपावली तिथि और समय के अनुसार ऐसा विधान है कि इस दिन देवता आकर काशी की पावन भूमि पर आकर दीपावली मनाते हैं, इसीलिए इस दिन में गंगा नदी के तट पर काशी, दीपों का दान किया जाता है। दीपदान में लाखों लोगों के उत्साह से भाग लेने का त्योहार है।

देव दिवाली शुभ मुहूर्त 2022 से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

इस बार कब मनाई जा रही है देव दीपावली?

इस बार देव दीपावली 7 नवंबर 2022 को मनाई जा रही है।

देव दीपावली 2022 मनाने के पीछे क्या उद्देश्य है?

कहा जाता है कि इस दिन देवी-देवता काशी नगरी का भ्रमण करते हैं, इसीलिए इस दिन गंगा नदी के तट पर दीपदान कर देव दीपावली मनाई जाती है।

Leave a Comment